अब देशभर में 3 मई तक रहेगा लॉकडाउन: PM मोदी ने की घोषणा



देश भर में तेजी से फेल रहे कोरोना वैश्विक महामारी के संक्रमण को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 14 अप्रैल को सुबह 10 बजे देश की जनता को सम्बोधित करते हुए लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला किया है अब लॉकडाउन देशभर में 3 मई तक रहेगा।


PM नरेंद्र मोदी ने इस बात की सराहना भी करि की किस प्रकार भारत दूसरे देशो के मुकाबले अब तक कोरोना लड़नी से लड़ने में सफल रहा है। इसके लिए PM मोदी ने देश की जनता का आभार व्यक्त किया और आगे भी एतिहात बरते व सरकार के निर्देशों का सक्ति पालन करने की अपील की।


PM मोदी ने नए लॉकडाउन का शक्ति से पालन करने के निर्देश दिए साथ ही उन्होंने कहा की कोरोना वायरस को नए क्षेत्रो में बढ़ने नहीं देना है। इसके लिए लोगो को ''सोशल डिस्टैन्सिंग'' का विशेष रूप से ध्यान रखना होगा।

प्रधानमंत्री ने अपने सम्बोधन में यह भी कहा की हॉटस्पॉट बन चुके इलाको में शक्ति से लोकडाउन पालन होना चाहिए साथ ही नए हॉटस्पॉट की आशंका वाले इलाको को पहले ही पुरे तरीके से शील करके सावधानी बरती जाये।

PM मोदी ने अगले एक हफ्ते तक लोकडाउन का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए इस एक हफ्ते में देश भर में कोरोना संक्रमित क्षेत्रो में सख्ती से नजर रखी जाएगी और यह पता लगाने की कोसिस की जाएगी की कहां पर संक्रमण के बढ़ने का खतरा ज्यादा जहां पर भी संक्रमण बढ़ने के आसार नजर आएंगे वहां पर सरकार कोरोना से निपटने के लिए नए नियम बनाएगी

PM मोदी ने गरीबो की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए 20 अप्रैल को लॉकडाउन में ढील देने की बात कही अगर इस बीच कोरोना का संक्रमण बढ़ा तो वापस सख्ती कर दी जाएगी।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन 7 बातों में देश की जनता का साथ मांगा

1. Lockdown दौरान बुजुर्गों का खास ख्याल रखा जाए।

2. सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाए।

3. अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय के निर्देशों का पालन किया जाए।

4. अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करें और अपने आसपास करोना पॉजिटिव व्यक्तियों का पता लगाया जाए और सावधानी बरती जाए।

5. अपने आसपास के गरीबों में भोजन की कमी को पूरा करें।

6. अपने साथ काम करने वाले सहकर्मियों को नौकरी से ना निकाले।

7. कोरोना की इस वैश्विक महामारी में शामिल डॉक्टरों नर्सों पुलिसकर्मियों व सफाई कर्मियों का आदर व सम्मान करें।

© 2020 by pkrajasthani.com